अंडे को कैसे खाना चाहिए, पका कर या कच्चा? How to Eat Eggs, Boiled or Unboiled?

Must read



अंडे को कैसे खाना चाहिए

अंडे को कैसे खाना चाहिए – आपकी अच्छी सेहत और स्वास्थय को ध्यान में रखते हुए आज हम बात करेंगे एक  बहुत महत्वपूर्ण विषय की जिसका नाम है अंडे को कैसे खाना चाहिए, पका कर या कच्चा?

अंडे खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद बताया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी की एक अंडे में कम से कम एक दर्जन से ज्यादा विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। अंडे सबसे अधिक पोषक खाद्य पदार्थों में से हैं जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी सेहत में सुधार कर सकते हैं। USFDA (United States Food and Drug Administration) के अनुसार, एक  बड़े कच्चे अंडे (आमतौर पर लगभग 50 ग्राम) में 72 कैलोरीज होती है।

अंडे ओवो-लैक्टो शाकाहार (Ovo-lacto vegetarianism) के लिए प्रोटीन के महान स्रोत होने के लिए जाने जाते हैं, जिसमें प्रति बड़े अंडे में 6.3 ग्राम प्रोटीन होता है। अंडे में 0.4 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 4.8 ग्राम बसा होती है, जिनमें से ज्यादातर ओमेगा फैटी एसिड के रूप में सैचुरेटेड फैट होती है। अंडे में अन्य पोषक तत्व जैसे एंटीऑक्सिडेंट, कैरोटीनॉयड (ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन) भी होते हैं, इसमें कैल्शियम, मैंगनीज, पोटेशियम, मैग्नीशियम, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन और विटामिन ई पाए जाते हैं।

अंडे बहुत सी शारीरिक गतिविधियों समान्य रखने में मदद करता है जैसे की उच्च रक्तचाप को रोकना, इम्युनिटी को बढ़ाना, एंटीकैंसर प्रभाव, Weight Management, मांसपेशियों की ताकत, स्वस्थ गर्भावस्था, मस्तिष्क समारोह, नेत्र स्वास्थ्य शरीर में पोषक तत्वों के अवशोषण (Absorption) बढ़ाना आदि। तो कुल मिलाकर हम यह कह सकते हैं की अंडे खाना सेहत केलिए बहुत ही फायदेमंद है पर एक बहुत ही मत्वपूर्ण बात जो जिस पर लोग ध्यान नहीं देते वो यह है की अंडे में प्रोटीन आपके द्वारा तैयार करने के तरीके के आधार पर बदल सकता है। अब  आपको पता होना चाहिए कि अंडे को कच्चा खाना या पके हुए अंडे को खाना दोनों शरीर पर बिलकुल अलग अलग प्रभाव डालते हैं। कच्चे अंडे के लाभ पके हुए अंडे के मुकाबले में अच्छे नहीं हैं।

हम बहुत सी बार देखते है की एथलिट या सेलेब्रिटी से कभी अगर पूछा जाए की अंडे कैसे खाना पसंद करते हैं तो उनका जवाब होता है की वो कच्चे अंडे खाते है। पर हम आपको बतादें की यह गलत है।




आप सोच रहें हैं की हम यह क्यों कह रहें की अंडे को हमेशा पक्का कर ही खाना  चाहिए ? दोनों में सिर्फ हीटिंग का ही तो फ़र्क़ होता है। पर दोस्तों यह हीटिंग ही तो है जो अंडे के अंदर मौजूद प्रोटीन में बहुत से बदलाव ले आती है।

कच्चा अंडा क्यों नहीं खाना चाहिए

  1. पका हुआ  अंडा खाने  से  इसका पाचन आसान बन जाता है क्योंकि इसमें मौजूद  प्रोटीन चेन्स  टूट जाती  है। पके हुए अंडे में 90 प्रतिशत प्रोटीन होते है जबकि  कच्चे अंडे में 50 से 60 प्रतिशत प्रोटीन होते हैं जिनको हमारा शरीर Absorb कर पाता है।
  2. कच्चे अंडे में एक प्रोटीन होता है जिसका नाम Avidin होता है। यह प्रोटीन हमारे शरीर में विटामिन बी की अब्सॉर्प्शन को कम करता है। जिसकी वजह से हमारा शरीर कुछ जरुरी बायोएक्टिव कंपाउंड (Bio active Compound) को पचा नहीं पाता है।
  3. कच्चे अंडे  को ना खाने की सलाह न देने का सबसे बड़ा कारण है इसमें मौजूद साल्मोनएला बैक्टीरिया।
  4. यह बैक्टीरिया हमारे शरीर में बहुत सी बीमारिया जैसे की इन्फेक्शन्स, चार्म रोग, पेट में गड़बड़ आदि को न्योता देते है।

साल्मोनेला बैक्टीरिया आमतौर पर अंडे के बाहर के खोल पर पाया जाता है, लेकिन ये बड़ी आसानी से अंडे के अंदर भी घुस सकता है। सभी कच्चे अण्डों पर  साल्मोनेला बैक्टीरिया बड़ी आसानी से मिल जाता है। इन बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए कम से कम के 160 ° F टेम्परेचर पर हीटिंग की जरुरत पड़ती है। इसलिए हमारी तरफ से यह सलाह है की सिर्फ वही अंडे जिनको 160 ° F (71 ° C) के  टेम्परेचर पर अच्छी तरह से गर्म किया गया हो या पास्चुरीकृत (Pasteurized) किया गया हो, सही मायने में खाने के लिए सुरक्षित माने जाते है।

हाल ही में बजार में पस्टेयरीज़ेड अंडे का चलन देखा गया। इस तकनीक के मुताबिक़ अंडो को 140 F से 143 F तक तीन से चार मिनट के लिए गर्म किया जाता है। ऐसा करने से साल्मोनेला बैक्टीरिया का रिस्क बहुत जायदा हद तक खत्म हो जाता है। इससे अंडे के पौष्टिक तत्वों को कोई नुकसान नहीं होता। बल्कि यह तकनीक कच्चे अंडे के लाभों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करती है। इस तकनीक अंडे के प्रोटीन को Denature किया जाता है। जो उन्हें पचाने में आसान बना सकता है और एविडिन जैसे एंटी-न्यूट्रिएंट्स (anti-nutrients) को बेअसर करता है, जिससे आपके शरीर को अंडे के सभी पोषक तत्वों को अब्सॉर्ब करने में मदद करती है।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology