कोरोनावायरस (COVID-19) क्या है? कोरोना वायरस का लक्षण क्या है?

Must read



कोरोना वायरस – लक्षण, बचाव के उपाय

क्या है कोरोनावायरस – दोस्तों, पूरी दुनिया में आज कल सबसे ज्यादा किसी चीज की चर्चा है तो वो है कोरोना वायरस। कोरोना वायरस की वजह से चीन में मेडिकल आपात काल घोषित किया गया है और दुनिया के सभी देश मेडिकल अलर्ट पर है। कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके वुहान शहर को बाकी शहरों से अलग थलग कर दिया गया है। शहर में सभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट रेल, फ्लाइट इत्यादि बंद कर दिए गए हैं।

चीन में अब तक कोरोना वायरस से 170 लोगों की मौत हो चुकी है और 7700 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से ग्रसित हैं। चीन के अलावा उसके आस पास के देशों में भी कोरोनावायरस के लक्षण वाले मरीज देखे गए हैं। आखिर ये कोरोना वायरस क्या बला है जिसने पूरी दुनिया की नींद उड़ा रखी है। तो चलिए दोस्तों जानते है क्या है कोरोना वायरस, क्या है कोरोना वायरस के लक्षण, कोरोनावायरस कैसे फैलता है, कहां से आया कोरोना वायरस और क्या है कोरोना वायरस से बचाव के उपाय!

अब चलिए जानते हैं कि क्या है कोरोना वायरस? 

कोरोना वायरस Coronaviridae फैमिली का एक नया वायरस है, जिसे कोरोना वायरस नाम दिया गया है। कोरोना वायरस मुख्य रूप से जानवर और पक्षियों में पाया जाता है पर अब ये इंसानों में भी आ चुका है। चीन में फैले कोरोना वायरस एक नया वायरस है जिसका अब तक कोई भी इलाज नहीं खोजा जा सका है। इलाज नहीं होने के कारण ही इससे मरने वालों की संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है।

इंसानों को इंफेक्टेड करने वाले कोरोना वायरस के 7 प्रकार है जिनमें से अधिकतर खतरनाक नहीं है। खतरनाक कोरोना वायरस में 2012 में सऊदी अरब में फैले Middle East Respiratory Syndrome-Related Coronavirus है जिसे शॉर्ट में MERS कहा गया। MERS की वजह से सऊदी अरब में 858 लोगों की मौत हो गई थी। 2003 में एक और प्रकार के कोरोना वायरस चीन और फिर 26 दूसरे देशों तक फैल गया था। इस कोरोना वायरस का नाम Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS) था जिस वजह से 800 लोगों की मौत हो गई थी और आठ हजार से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ गए थे। एक बार फैलने के बाद इन दोनों खतरनाक वायरस को काबू कर लिया गया था, लेकिन कोरोना वायरस का इलाज अब तक नहीं खोजा गया है।

कहां से आया है कोरोना वायरस? 

कोरोना वायरस जानवरों में पाया जाता है और जानवरों से ही इंसान में फैलता है। MERS कोरोना वायरस  चमगादड़ और इंफेक्टेड ऊंट के कारण फैला थ वहीं SARS कोरोना वायरस चमगादड़ से फैला था। लेकिन चीन में फैले कोरोना वायरस के फैलने का कारण अब तक पता नहीं चल सका है। कोरोना वायरस पर कई रिसर्च किया गया है।

शुरुआती रिसर्च में ये बात साबित हुआ है कि ये जानवरों से ही फैला है। कोरोना वायरस से ग्रसित कुछ व्यक्ति मांस और मछली के बाजार में ही काम किया करते थे, जिससे इस बात को बल मिला कि कोरोना वायरस भी जानवरों से ही फैला है। Journal of Virology में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, साइंटिस्ट ने कोरोना वायरस के जेनेटिक सीक्वेंस की स्टडी की और रिसर्च में ये बात कही कि कोरोना वायरस सांपो से ही इंसान तक फैला है, लेकिन इस रिपोर्ट पर भी कई एक्सपर्ट्स ने सवाल उठाए। कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस चमगादड़ से सांपो तक फैला और फिर सांप से इंसान तक आया। हालांकि पक्के तौर पर कोई भी सही नतीजे पर नहीं पहुंच पा रहा है।

कोरोनावायरस का लक्षण क्या है? 

कोरोना वायरस का शुरुआती लक्षण सर्दी, जुकाम, बुखार, सांस लेने में तकलीफ और बदन में दर्द है। शुरुआती लक्षण के बाद कोरोना वायरस का इंफेक्शन बढ़ते हुए फेफड़े तक पहुंच जाता है। फेफड़ा में इंफेक्शन हो जाने के कारण संक्रमित व्यक्ति निमोनिया का शिकार हो सकता है और फेफड़ा में सूजन भी हो सकता है। सांस लेने में दिक्कत होने के कारण शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। इंफेक्शन पूरे शरीर में फ़ैल जाने के कारण कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति की मौत हो सकती है।

कोरोनावायरस फैलता कैसे है? 

कोरोना वायरस इंफेक्टेड जानवरों से इंसान तक पहुंच जाता है। इंफेक्टेड जानवरों को छूने से या उनके आस पास रहने से ही कोई भी कोरोना वायरस की चपेट में आ जाता है। कोरोनावायरस एक इंसान से दूसरे इंसान तक भी फैलता है। इंफेक्टेड व्यक्ति के छींकने, खांसी करने, हाथ मिलाने या फिर आस पास रहने भर से ही स्वस्थ व्यक्ति कोरोना वायरस का शिकार हो सकता है। कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद 2 से 14 दिनों के बीच इसके शुरुआती लक्षण सामने आते हैं। जब तक शुरुआती लक्षण सामने आता है उससे पहले ही कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति से कई और लोगों तक पहुंच जाता है।

कोरोना वायरस से बचाव के उपाय? 

कोरोनावायरस से पूर्ण बचाव का कोई भी इलाज अब तक खोजा नहीं गया है। कुछ सावधानियां बरती जाए तो कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। कोरोना वायरस से बचने के लिए जानवरों से दूर रहें। यदि कोई व्यक्ति संक्रमित है तो उससे कम से कम एक मीटर की दूरी बरतें और संक्रमित व्यक्ति को मास्क पहनने को कहें। यदि कोई खांसता है या छिंकता है तो उसे अपने मुंह पर हाथ या टिश्यू रखने को कहें। मांस, मछली और सी फूड खाने से बचें। साबुन या हैंडवाश से अच्छे से हाथ धोएं। सर्दी जुकाम होने पर किसी अच्छे हॉस्पिटल में जरूर दिखाएं, क्यूंकि कोरोना का भी शुरुआती लक्षण सर्दी और जुकाम ही है।

भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण की बात करें तो अब तक सिर्फ केरल का एक छात्र ही इसकी चपेट में आया है वो वुहान में रह कर पढ़ाई कर रहा था। भारत में आने के बाद उसकी जांच की गई और जांच में कोरोनावायरस की पुष्टि की गई। त्रिपुरा के एक छात्र की मलेशिया में कोरोना वायरस की वजह से ही मौत हो गई है। भारत के कई बड़े एयरपोर्ट पर चीन से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है।

आपको कोरोना वायरस के बारे में ये जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट कर के जरूर बताएं, और कोरोनावायरस में बारे में जागरूकता फैलाने के लिए इस आर्टिकल को जरूर शेयर करें।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology