कोरोनावायरस क्या है, कोरोना वायरस का ट्रीटमेंट क्या है

Must read



कोरोनावायरस

कोरोना वायरस – अगर आपसे यह कहा जाए एक ऐसी बीमारी आ चुकी है जिसका इलाज Modern Science के पास भी नहीं है। जी हां, ऐसी ही कुछ खबरें हमें दुनिया के कोने में सुनने को मिल रही है की एक ऐसा वायरस फैल चुका है। एक तंदुरुस्त इंसान की भी जान ले सकता है। इस भयानक वायरस का नाम है कोरोनावायरस। जोकि पिछले कुछ वक्त पहले ही आया है। कोरोना वायरस चाइना से निकला है और अब विदेशियों को अपना शिकार बना रहा है।

तो क्या यह कोरोना वायरस इंडिया में आ चुका है ? और यह कैसे फैल रहा है पूरी जानकारी के लिए बने रहें इस आर्टिक्ल के साथ।

कोरोना, अभी तक यह नाम लोगों ने बियर की एक ब्रांड और सूरज की प्लाज्मा के तौर पर सुना था। लेकिन अब कोरोना एक वायरस के रूप में चर्चा में है। इस वायरस के इंसानों में पहुंचने के बारे में अभी पुख्ता रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता।

कहाँ से आया कोरोनावायरस

कोरोनावायरस को लेकर इंटरनेशनल मीडिया में यह दावा किया जा रहा है की 2019 के आखिरी महीनों में चीन के वुहान शहर के नॉनवेज मार्केट से कोरोना वायरस पैदा हुआ है।

एक सर्वे के मुताबिक बेचे गए जंगली जानवरों के शरीर में यह वायरस था जो नॉनवेज खाने वालों के शरीर में पहुंच गया। की वही शुरुआती रिसर्च में यह माना गया यह वायरस सांपों के जरिए इंसानों में फैला है। दूसरे तरफ चीन की सरकारी मीडिया यह दावा करती है की बिच्छू और चूहों के जरिए इस वायरस के फैलने की आशंका जताई है। इसके बाद चीन के वैज्ञानिकों के लेटेस्ट  रिसर्च में पाया गया कि यह वायरस चमगादड़ से सांपों और फिर सांपों से इंसानों में फैला है। चीन की राजधानी बीजिंग में जनरल ऑफ मेडिकल बायोलॉजी विरोलॉजी में पब्लिश हुई वैज्ञानिकों की स्टडी में  कहा गया कि कोरोना वायरस सांपों से इंसानों में पहुंचा है। Bat यानी चमगादड़ का सूप यह शूप आम तो नहीं है, लेकिन चीन के वुहान सिटी में यह एक पॉपुलर सूप है।

पिछले दिनों डब्ल्यूएचओ यानी कि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने कोरोना के संबंध में सूचित किया कि कोरोना वायरस जानवरों से जुड़ा है, और यह पोल्ट्री फॉर्म चमगादड़ और सांपों के जरिए इंसानों में आया है। रिसर्च में पता चला है की कोरोना वायरस एक पैथोजन है। यह एक तरीका इंफेक्शन एजेंट होता है जो बीमारियां उत्पन्न करता है। इसे साधारण रूप में जर्म्स या कीटाणु के रूप में भी समझ सकते हैं।

कितने लोग कोरोना वायरस के शिकार हैं

31 दिसंबर से 26 जनवरी यानी कि 1 महीने से भी कम समय में इस वायरस ने लगभग 2483 लोगों को अपना शिकार बनाया है। जिनमें से 82 की जान भी जा चुकी है और यह वायरस अब ना केवल चाइना में बल्कि भारत, यूएसए, सिंगापुर, नेपाल, वियतनाम , ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड, जापान, फ्रांस, और कोरिया जैसे कंट्री में भी फैल चुका है। जो कि दिल दहलाने वाली बात है क्योंकि अगर 1 महीने में यह वायरस इतनी तेजी से फैला है तो फिर पता नहीं आने वाले दिनों में यह वायरस क्या क्या करेगा।

कोरोना वायरस का ट्रीटमेंट

सबसे ज्यादा चिंताजनक बात यह है कोरोना वायरस से बचने का कोई अभी तक ट्रीटमेंट इजाद नहीं हो पाया है। अब तक इस वायरस के लक्षणों का ट्रीटमेंट खोजा गया है पर वायरस का ट्रीटमेंट वर्तमान समय में किसी के पास नहीं है। इससे पहले भी समय-समय पर इस तरह के वायरस दुनिया में आ चुके हैं जैसे कि SARS यानी सैक्यू रेस्पिरेशन सिंड्रोम जो कि 2003 में फैलने वाला वायरस था। और MERS जो कि साल 2012 में फैला था। पर अब इन सबसे खतरनाक एनसीओबी जो कि एक तरह का कोरोना वायरस है, जो अब तेजी से दुनिया को अपनी जद में ले रहा है।

कोरोना वायरस के शुरुआती लक्षण

इस वायरस के शुरुआती लक्षण है बुखार, गले में खराश और सांस लेने में तकलीफ। फिर बाद में यह वायरस आपके दोनों फेफड़ों को बुरी तरह से खत्म कर देता है। और इस वायरस से पीड़ित व्यक्ति को निमोनिया जैसी बीमारी भी हो जाती है। और फिर कोई इलाज ना होने के कारण इस वायरस से व्यक्ति की जान चली जाती है। यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान मैं बहुत तेजी से पहुंचता है। इसके पहुंचने का तरीका डायरेक्ट और इनडायरेक्ट होता है।

क्या भारत में भी है कोरोना वायरस

लेटेस्ट रिपोर्ट के अनुसार अभी तक भारत में इस बार से इस कोरोना वायरस से संक्रमित कोई भी जानकारी पुख्ता रूप से नहीं है, और ना ही किसी की जान गई है। पर केरल और महाराष्ट्र में 200 लोगों को अंडर ऑब्जर्वेशन में रखा गया है, क्योंकि चाइना से भारत में आने वाले लोगों के थ्रू भी यह वायरस फैल सकता है। इंडियन हेल्थ गवर्नमेंट का कहना है कोरोना वायरस से अपनी नागरिकों को बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। चाइना के बुहान में रहने वाले तीन करोड़ से भी ज्यादा लोगों को शहर में ही बंद करके रखा गया है ताकि वह वहां से निकलकर दूसरी सिटी या कंट्रीज में कोरोना वायरस ना फैला सकें। किंतु इससे वहां के लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कोरोना वायरस से कैसे बचें

अब सवाल यह उठता है कि हम कोरोना वायरस से कैसे सुरक्षित हो सकते हैं। दोस्तों आपको बता दें फिलहाल कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है। फिर भी डब्ल्यूएचओ के द्वारा लोगों तक यह संदेश पहुंचाया जा रहा है कि अपने हाथों को साबुन से बार-बार धोते रहें, ताकि आपका कोई वायरस ना आ सके। इसी के साथ छीकते या खांसते वक्त मुंह को पूरी तरह से ढक ले। और कोई भी चीज को खाने से पहले उसे अच्छी तरह से पका ले, ताकि कोई हिस्सा कच्चा ना रह सके। और अगर किसी को गले में खराश या बीमारी महसूस हो तो जल्द से जल्द अपना चेकअप करवाएं। अगर हम इन बताए गए बचावो का पालन करें पाएंगे तो शायद हम इस वायरस को मात दे सकते हैं।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology