नागरिकता कानून पर बवाल: पेट्रोल पंप फूंका, घरों, दुकानों में लगाई आग Citizenship law violence in hindi

Must read




नागरिकता कानून पर बवाल : गृहमंत्री ने आपात बैठक बुलाई 

नागरिकता कानून पर बवाल – नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर और भजनपुर में लगातार दूसरे दिन हिंसक प्रदर्शन हुए। गोकुलपुरी में पथराव में सिर में चोट लगने से हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई। करदमपुरी निवासी फुरकान व तीन अन्य की मौत हुई है। शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा व गोकुलपुरी एसीपी अनुज कुमार समेत 57 लोग घायल हो गए।

उपद्रवियों ने सोमवार को कई घरों, दुकानों और वाहनों को आग लगा दी। पुलिस पर पथराव और गोलियां चलाई गईं। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। जाफराबाद में उपद्रवियों ने एक पैट्रॉल पंप को जला दिया। आग बुझने पहुंची दमकल की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई।

परीक्षा देकर लौट रहे छात्रों से भी मारपीट की गई। देर शाम उपद्रवियों ने गोकुलपुरी की टायर मार्किट को भी फूंक दिया। हिंसा प्रभावित दस इलाकों में धारा-144 लगा दी गई है। वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आपात बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा की।

उत्तर पूर्वी के मौजपुर में दूसरे दिन भी हिंसक प्रदर्सन करते हुए। जाफराबाद में एक शख्स ने भी रोड पर तमंचे से कई राउंड गोलियां दागीं।




नौ मेट्रो स्टेशन बंद, दस इलाकों में धारा 144, छात्रों से मारपीट

देर शाम तक स्कूलों में फंसे रहे बच्चे और अभिभावक हिंसा के बाद कई सरकारी स्कूलों में बच्चे और शिक्षक देर शाम तक फंसे रहे। सरकारी स्कूलों में सोमवार को 7वी, 8वी व 9वी कक्षा की अलग अलग विषयों की परीक्षा होनी थी। रविवार को हुई हिंसा के कारण कई अभिभावकों ने सोमवार को बच्चों को स्कूल ही नहीं भेजा। जो गए थे, वे देर शाम तक वहीँ फंसे रहे। ऐसी स्थिति में सरकारी स्कूल शिक्षक संघ ने पेपर रद्द कर हिंसा प्रभावित इलाकों के स्कूलों में छुट्टी करने की मांग की है।

हिंसा करने वालों से सख्ती से निपटेगी केंद्र सरकार

प्रदर्शनकारी संविधान के डियर में विरोध करेंगे तो सरकार समर्थन करेगी। लेकिन अगर वे हिंसा या उसे भड़काने की कोशिश करेंगे तो उनसे सख्ती से निपटा जायेगा। गृहमंत्रालय लगातार स्थिति पर नजर रख रहा है। अशांत इलाकों में और सुरक्षाबलों को भेजने का निर्देश दिया गया है। -जी किशन रेड्डी, गृह राज्यमंत्री

ट्रंप की यात्रा को देखते हुए हिंसा

सरकारी सूत्रों ने कहा है कि दिल्ली में हुई हिंसा को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा को देखते हुए सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया। दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक कंट्रोल रूम से हालातों पर करीब से नजर रखे हुए हैं। वहीं, गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा की उच्च अधिकारी इलाके में मौजूद हैं।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology