पेट्रोल पंप वाले कैसे पेट्रोल की चोरी करते हैं जाने इस आर्टिकल में How is petrol stolen

Must read



पेट्रोल की चोरी हाथ की सफाई

हमारे देश में वाहनों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। इस संख्या के बढ़ते हम पेट्रोल की खपत को भी बढ़ा रहे हैं। बढ़ते हुए पेट्रोल के इस्तेमाल को देखकर हम लोग पेट्रोल से संबंधित बहुत सी परेशानियों का सामना कर रहे हैं। इनमें से कुछ परेशानियां हैं पेट्रोल के भाव का कम होना या बढ़ जाना, पेट्रोल पंप पर लगने वाली लंबी लाइनें और पेट्रोल पंप वालों के द्वारा पेट्रोल की चोरी।

जी हां, पेट्रोल पंप वाले ही है जो आपके Vehicle में पेट्रोल डालते समय पेट्रोल को चोरी कर लेते हैं और इस चोरी का Customer को पता भी नहीं चलता। उनका आंखों में धूल झोंकने का तरीका एकदम किसी Expert Magician की तरह साफ है।

पेट्रोल की चोरी हाथ की सफाई की जैसी बन गई है, जिसमें आप अपनी आंखों से देखते हुए भी यह कभी नहीं पता कर सकते कि आपका पेट्रोल चोरी कब हुआ। तो चलिए हम आपको ऐसे ही कुछ तरीकों के बारे में बताते हैं जिनको अपनाकर पेट्रोल पंप वाले आपके Vehicle में पेट्रोल डालते समय पेट्रोल चोरी कर लेते हैं ।

चेक करते रहें माइलेज

पेट्रोल चुराने के लिए पेट्रोल पंप मालिक अक्सर पहले से ही मीटर में हेराफेरी करते हैं। जानकारों के मुताबिक देश में कई पेट्रोल पंप अब भी पुरानी तकनीक पर चल रहे हैं, जिसमें हेराफेरी करना बेहद आसान है। आप अलग-अलग पेट्रोल पंपों से तेल डलवाएं और अपनी गाड़ी की माइलेज लगातार चेक करते रहें।

Digital Meter वाले पेट्रोल पंप से लें पेट्रोल और डीजल

पेट्रोल हमेशा डिजिटल मीटर वाले पंप पर ही भरवाना चाहिए। इसका कारण यह है कि पुराने पेट्रोल पंप पर मशीने भी पुरानी होती है, और इन मशीनों पर कम पेट्रोल भरे जाने का डर अधिक रहता है।

मीटर रीडिंग करते रहें चेक

पेट्रोल पंप की मशीन में जीरो तो आपने देख लिया, लेकिन रीडिंग किस अंक से शुरू हुआ, यह नहीं देखा। आपको यह ध्यान रखना होगा कि मीटर की रीडिंग सीधे 10, 15 या 20 अंक से शुरू होती है। लेकिन आपको यहाँ ध्यान देना चाहिए कि पेट्रोल पंप मीटर की रीडिंग कम से कम 3 से स्टार्ट होनी चाहिए।

मीटर रीसेट जरूर करवाएं

कई पेट्रोल पंपों में कर्मचारी आपकी बताई रकम से कम पैसे का तेल भरते हैं। टोकने पर ग्राहकों से कहा जाता है कि मीटर को जीरो पर रीसेट किया जा रहा है। लेकिन अगर आप चूके तो अक्सर ये मीटर जीरो पर नहीं लाया जाता है। इसलिए ये जरूरी है कि आप तेल भरवाते वक्त सुनिश्चित करें कि पेट्रोल पंप मशीन का मीटर जीरो पर सेट है।

पेट्रोल की क्वालिटी पर डाउट

बहुत से  कारण हो सकते हैं जो आपकी कार में भरे जाने वाले पेट्रोल की Quality के बारे में आपके मन में Doubt पैदा कर सकते हैं। पेट्रोल की खराब Quality पर भी Petrol Pump मालिक बहुत पैसे कमा लेते हैं।

Right to Consumer, 1986 के अनुसार, प्रत्येक पेट्रोल पंप को फिल्टर पेपरों को स्टॉक रखना चाहिए और मांगे जाने पर Customers को देना भी चाहिए।

आपको क्या करना है कागज पर पेट्रोल की कुछ बूँदें डालें, अगर पेट्रोल शुद्ध है, तो यह बिना किसी दाग ​​के Paper को छोड़ देगा। हालांकि, अगर पेट्रोल में मिलावट है, तो यह कागज पर कुछ दाग जरूर छोड़ देगा।

इस तरह के फिल्टर पेपर का उपयोग करके, आप आसानी से पेट्रोल Quality की जांच कर सकते हैं कि यह मिलावटी है या नहीं।

Petrol गाड़ी से नीचे उतरकर ही भरवायें

ज्यादातर लोग जब अपनी गाड़ी में ईंधन भरवाते हैं, तो वे गाड़ी से नीचे नहीं उतरते।
इसका फायदा पेट्रोल पंप के कर्मचारी उठाते हैं। पेट्रोल भरवाते समय वाहन से नीचे उतरें और मीटर के पास खड़े हों।

ध्यान रखे कि पाइप में पेट्रोल बचा ना रहे

आपने देखा होगा कई पेट्रोल पंपों पर तेल भरने की पाइप को लंबा रखा जाता है। कर्मचारी पेट्रोल डालने के बाद ऑटो कट होते ही फौरन नोजल गाड़ी से निकाल लेते हैं। इस वजह से पाइप में बचा हुआ पेट्रोल हर बार टंकी में चला जाता है। इस बात पर जोर दें कि ऑटो कट होने के कुछ सेकेंड बाद तक पेट्रोल की नोजल आपकी गाड़ी की टंकी में रहे, ताकि पाइप में बचा पेट्रोल भी उसमें आ जाए।

राउंड फिगर की रकम में ना भरवाएं पेट्रोल

ज्यादातर लोग 500, 1000 या 2000 जैसी रकम देकर पेट्रोल या डीजल भरवाते हैं। लेकिन कई पेट्रोल पंप मालिक ऐसे नंबर के लिए पहले ही मशीन को फिक्स करके रखते हैं। इसलिए बेहतर होगा कि आप राउंड फिगर की रकम देकर पेट्रोल ना भरवाएं।

तो दोस्तों यह कुछ खास टेस्ट करके और सावधानियां बरत के आप अपने पेट्रोल की चोरी को बचा सकते हैं। इस आर्टिकल से रिलेटेड अगर आपके पास कोई और सुझाव है तो उनको भी हमारे साथ शेयर करना ना भूलें। धन्यवाद



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology