बॉलीवुड में कैमरे के पीछे क्या क्या करते हैं ये सितारे What happens behind the camera in bollywood

Must read




बॉलीवुड में कैमरे के पीछे के कुछ कड़वे सच

बॉलीवुड, दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी और मल्टी मिलियन डॉलर की फिल्म इंडस्ट्री है, जो हमारे दिलों पर राज करती है। बॉलीवुड और बॉलीवुड हस्तियों का हमारी लाइफस्टाइल पर बहुत असर पड़ता है, एक कहावत है कि फिल्मे ही हमारे समाज का आइना होती हैं। हम जानते हैं कि स्क्रीन पर क्या हो रहा है, लेकिन शायद ही हम जानते हैं कि कैमरे के पीछे क्या होता है।

आज हम आपको ऐसी सचाई से रूबरू करवाते हैं जो बेहद ही कड़वी है, और ये सच्चाई बॉलीवुड में काम करने वाले व्यक्ति ने बताइ है, जो 100 % सच है, हैं ये बहुत सेंसिटिव मुद्दा है जिसे कोई भी बताना नहीं चाहता इसीलिए ये हर उस बन्दे तक पहुंचना चाहिए जो बॉलीवुड में जाने का सपना देखता है ताकि वो इन सभी चीज़ो के बारे में सतर्क रह सके। आइये जानते

सबसे पहले ऑडिशन के बारे में जानते हैं

ऑडिशन लेने वालो की कम से कम दो बन्दों की टीम होती है। एक सीनियर जो डिसिज़न पास करता है और एक जूनियर जो की ऑफिस में आने वाले लड़को या लड़कियों को रिसीव करके उनका ऑडिशन रिकॉर्ड करता है। अगर ऑडिशन के लिए कोई आता है, तो जूनियर उसे देखते ही मन ही मन पास या फ़ैल कर देता है।

मान लीजिए शो के लिए दो आर्टिस्ट चाहिए एक का नाम “आकृति” है जो शो में लीड रोल कर सकती है दूसरी का “भावना” जो छोटे रोल के लिए है। जब कोई लड़की ऑडिशन के लिए आएगी तो कास्टिंग टीम का जूनियर सदस्य उससे मिलेगा, और सीनियर को फ़ोन या व्हाट्सप्प करके बताएगा कि आकृति आयी है या भावना आयी है। वो बॉस को उसका रियल नाम नहीं बताएगा। स्क्रिप्ट के नाम से ही पता चल जायेगा की उसे लेना है या नहीं। अगर उसे नहीं लेना तो उसे वही बहाना बनाकर वापिस कर देंगे। अगर जैसे तैसे लड़की की ज़िद से उसे अंदर ले भी लिया तो उससे जब परफॉरमेंस देने को बोलेंगे तो वन टेक में ही उसकी झूटी तारीफ करके उसे चलता करेंगे, चाहे उसने कितनी भी ख़राब एक्टिंग की हो। और कभी कभी तो कैमरा का रिकॉर्डिंग भी ऑन नहीं करते और शो ऑफ करके लड़की को चलता करते है।




इसके अलावा सुन्दर और छोटे कपड़ो वाली लड़की को तुरंत अंदर ले लेते है और उसके साथ एक डेढ़ घंटा बात करते है। और बार बार उसका ऑडिशन लेते है शायद कभी कभी पटाने के लिए भी। और बाद में टीम के सारे बन्दे मिलकर बात करते है कि उसके “बट” कितने उभरे थे, उसके बूब्स क्या मस्त थे, उसके होंठ, उसके बाल आदि।

कभी कभी जब कोई लड़की ज्यादा पसंद आ जाये तो क्रिएटिव टीम के साथ सेटिंग करके उसे कोई रोल दिला देते है, फिर दोस्ती करते करते उसका पूरा आनंद ले लेते है।

सब कुछ मतलब सब कुछ मिलेगा

अगर आपको सेक्स की तलाश है तो मुंबई में अपने आप ही ऑफर आ जाता है। एक बार एक लड़की ने खुद ही हमे रोल देने के बदले ये बोला था कि “इसके बदले जो तुम्हे चाहिए वो मिलेगा, मेरा मतलब समझ गए होंगे जो चाहोगे वो”।हालाँकि हम ऐसी लड़कियों को बिलकुल भाव नहीं देते और उसे भी नहीं दिया और उसे चलता किया।

फ्लॉप अभिनेताओं को नजरअंदाज

इंडस्ट्री एक फ्लॉप अभिनेता को एक टैबू के रूप में देखती है। इंडस्ट्री में लगभग हर कोई उन्हें नजरअंदाज करना शुरू कर देता है और कोई भी उनके साथ काम नहीं करना चाहता। यहां तक ​​कि कोई भी प्रोडक्शन हाउस उन्हें साइन नहीं करना चाहता है। दिग्गज अभिनेत्री मलिका सेहरावत, तनुश्री दत्ता, बिपाशा बासु ने उसी का सामना किया। उन्होंने सफल फिल्में दीं, लेकिन एक बार जब उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गईं, तो लोग उनको Ignore करने लगे। वह अकेली रह गई और बाद में Depression के कारण गुमनामी में खो गई।

गरीबी

इस चमकते उद्योग में, ऐसे कई अभिनेता हुए हैं, जिन्होंने अपने दौर में सफल फिल्में दीं, लेकिन अपने करियर के समाप्त होने के बाद, उन्हें गरीबी का सामना करना पड़ा। उनमें से कुछ के पास अपने इलाज के लिए पैसे नहीं थे, जबकि कुछ ने अकेले अपना जीवन बिताया। अभिनेता जैसे ए.के. हंगल, भगवान दादा, भारत भूषण, जगदीश माली, परवीन बाबी और कादर खान इसके कुछ उदाहरण हैं। जगदीश माली सड़कों पर भीख मांगते हुए पाए गए जबकि परवीन बाबी का शव तीन दिनों तक उनके अपार्टमेंट में रहा।

Depression शराब और रहस्यमय मौतें

फिल्म उद्योग के कई अभिनेता और अभिनेत्रियां Depression और शराब के दौर से गुजर चुके हैं, जबकि कुछ की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई। परवीन बॉबी अपने समय की सबसे सफल अभिनेत्रियों में से एक थीं, जो Depression में चली गईं, ड्रग्स और अल्कोहल का प्रयोग किया और बहुत दयनीय स्थिति में मृत्यु हो गई। दूसरी ओर, दिव्या भारती अपने समय की उभरती हुई अभिनेत्रियों में से एक थीं जिनकी रहस्यमय परिस्थितियों में मृत्यु हो गई जो अभी भी रहस्य है।

फिल्म इंडस्ट्री में कुछ चुनिंदा लोगो ने गंदगी फैला रखी है। वैसे तो बहुत सारे और भी राज़ है लेकिन हम बाकियो के राज़ को सार्वजानिक नहीं कर सकते। जो सिचुएशन आपने ऊपर पढ़ी उसका भी 10 गुना ख़राब सिचुएशन होती है बॉलीवुड की जो हमने नहीं बताई।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology