भारत के सबसे अजीब कानून जिन्हें आपको जानना चाहिए। India’s weirdest laws in Hindi

Must read



भारत के ऐसे कानून जिन्हें जानकर आपको हंसी आयेगी

कोई भी देश हो या उस देश का समाज, हर कोई नियमों और कानूनों में बंधा होता है। कई बार ये कानून इतने दोगुले होते हैं कि उनकी कमजोरी का कोई भी फायदा उठाने लग जाता है तो कई बार ये कानून हमें पता ही नहीं होते है, जिसकी वजह हम समस्याओं में आ जाते है और शायद इन्हीं अजीब कानूनों की वजह से पुलिस और अदालतों में केस की संख्या में भारी बढ़ौत्तरी आयी है। तो चलिए आज हम आपको भारत के बारह ऐसे कानूनों के बारे में बतायेंगे जो कि बेहद ही अजीब हैं। आप इन्हें जरूर जान ले क्या पता कहां काम आ जायें।

1.    इंडियन पीनल कोड, 1860 सेक्शन 497

यह कानून बहोत ही अजीब है और पक्षपात वाला है इस कानून के मुताबिक इंडिया में यदि कोई भी पुरुष शादी के बाद किसी और महिला से शारीरिक संम्बंध बनाता है तो उसको सजा सुनाई जाती है जबकि यही गलती यदि कोई शादीशुदा महिला करती है तो इसके लिए कोई भी सजा का प्रावधान नहीं है।

2.    सिलिंडर फटने पर मिलती है 40 से 50 लाख तक की राशी

जी हाँ, आपको जानकर हैरानी होगी की खाना बनाते समय यदि आपका गैस सिलिंडर फट जाता है तो आप अपने नुकसान की भरपाई करने के लिए गैस कंपनी से 40 लाख तक की डिमांड कर सकते हो। जब भी आप गैस सिलिंडर लेते हो उस वक्त आपको फ्री में बिमा भी मिल जाता है। गैस कनेक्शन लेते ही आप बिमा धारक वन जाते हो। लेकिन आपको जान-हानी का नुकसान तभी मिलेगा, जब दुर्घटना के दौरान आपने रेगुलेटर और अन्य सिलिंडर से जुड़ा सामान गैस एजन्सी का ही इस्तेमाल किया हो और वो आई एस आई मार्क वाला ही होना चाहिए।

3.    पतंग उड़ाने के लिए परमिट होना जरूरी।

एयरक्राफ्ट एक्ट 1934 के मुताबिक पुलिस की इजाजत के बिना पतंग उड़ाना कानून अपराध है। हैरान हो गए न सुनकर? तो जान लीजिए कि अब तक आपने जितनी बार पतंग उड़ाई है, उतनी बार आपने कानून तोड़ा है। कम से कम एयरक्राफ्ट एक्ट तो यही कहता है। शायद आपको पता नहीं है कि ऐसा करने पर आप पर 10 लाख का जुर्माना और 2 साल की जेल हो सकती है।

4.    Protection of Women from Domestic Violence ACT, 2005

सन 2005 में महिलाओ के Protection of Women from Domestic Violence ACT कानून बनाया गया था। इस कानून के मुताबिक यदि कोई पति अपनी पत्नी पर किसी भी तरह का अत्याचार, दुर्व्यवहार, मारपीट, या किसी भी तरह की मानसिक और शारीरक हानी पहुंचाता है तो उसको 3 साल या उससे अधिक साल की जेल की सजा हो सकती है। इसके अलावा इस कानून के मुताबिक आप किसी भी महिला को शादी के दौरान या शादी के बाद दहेज के लिए ताने नहीं मार सकते है या दहेज की मांग भी नहीं कर सकते है।




इतना ही नहीं आप अपनी पत्नी को शारीरिक संबंध बनाने के लिए या किसी भी तरह की अश्लील सामग्री देखने के लिए मजबूर भी नहीं कर सकते हो। वैसे तो यह कानून महिलाओ की सुरक्षा की दृष्टि से बिलकुल ठीक था लेकिन बहुत सारी महिलाएं इस कानून का गलत फायदा भी उठाती है। साल 2012 में करीब 2 लाख लोगो को इस कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन यह सभी लोग एसे थे जो इस कानून के गलत इस्तमाल के शिकार बने थे।

5.    मोटर वाहन अधिनियम धारा 129

इस धारा के मुताबिक भारत के हर एक नागरिक को मोटर साईकल चलाते वक्त हेलमेट पहेनना जरुरी है। यदि किसी ने हेलमेट नहीं पहना है और इस दौरान ट्राफ्फिक पुलिस या कांस्टेबल आपकी बाइक से चाबी निकाल लेता है तो आप इन ऑफिसर के ऊपर कानूनी कार्यवाही कर सकते हो क्यूंकि यह एक गैर कानूनी तरीका है।

6.    दण्ड प्रकिया संहिता की धारा 46

इस कानून के तहत पुलिस किसी भी महिलाओं को शाम के 6 बजे से सुबह के 6 बजे तक गिरफ्तार नहीं कर सकती है। यदि किसी स्त्री ने बहुत ही घिनोना अपराध किया है तो महिला पुलिस को न्यायालय में लिखित में अर्जी करनी पड़ेगी इसके बाद ही सिर्फ और सिर्फ महिला पुलिस कर्मी ही किसी स्त्री के शरीर को छू सकती है।

7.    मातृत्व लाभ अधिनियम, 1961

इस कानून के मुताबिक कोई भी कंपनी वाले किसी भी गर्भवती महिला को जॉब से निकाल नहीं सकते है। यदि कोई कंपनी वाले ऐसा करते है तो उन कंपनी के मालिक को 3 साल तक की जेल की सजा हो सकती है।

8.    भारतीय सरिउस अधिनियम 1887

यह कानून बेहद ही मजेदार है। इस कानून के मुताबिक भारत देश का कोई भी नागरिक भारत की किसी भी होटल में फ्री में पानी पी सकता है और फ्री में वाशरूम का इस्तेमाल कर सकता है, फिर चाहे वो कोई सामान्य होटल हो या फाइव स्टार होटल। यदि कोई होटल वाले आपको एसा करने से रोकते है तो आप उनके खिलाफ Legal Action ले सकते हो।

9.     केरल में तीसरा बच्चा पैदा करना गैरकानूनी है

चीन की तरह भारत के केरल राज्य में भी बच्चे पैदा करने को लेकर कानून बनाया गया है। इस कानून के मुताबिक केरल में सिर्फ 2 बच्चे पैदा करने की ही छुट है, इसके बाद हर एक बच्चे पर 10 हजार का जुर्माना देना होगा।

10.   वेश्यावृत्ति कानूनी है, लेकिन आप इसकी दलाली नहीं कर सकते।

वेश्यावृत्ति को यदि कोई निजी व्यापार के रूप में करता है, तो ये कानूनी है, लेकिन यदि कोई सार्वजनिक जगह पर ग्राहकों को आकर्षित करने की कोशिश करता है तो ये गैरकानूनी है। वेश्यालय, प्रॉस्टीट्यूशन रिंग्स, पिंपिंग आदि गैरकानूनी हैं। शायद आप कन्फ्यूज हो गए होंगे। दरअसल, भारत में वेश्यावृत्ति को लेकर कोई स्पष्ट कानून है ही नहीं। इसे कहते हैं सहूलियत के हिसाब से कानून बनाना।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology