भारत के 5 बॉडी बिल्डर पुलिस वाले 5 bodybuilder cop of India

Must read



 

Muscular Bodybuilder Police Officders of India

वैसे हम सभी जानते है कि आज हमारे देश के पुलिस डिपार्टमैंट का फिटनेस के मामलें में क्या हाल है। लेकिन आज हम आपको गरीबी से उठे हुए कुछ ऐसे तगडे पुलिस वालों के बारे में बताएगें, जिनकी बाॅडी देखकर अच्छे-अच्छे बदमाशों के पसीने छूट जाते हैं। तो दोस्तों आइये जानते हैं इन बॉडी बिल्डर पुलिस के बारे में जो इंडिया की शान हैं। और जो सबसे आखिर पर है बॉडी बिल्डर पुलिस वाले की बाॅडी देखकर आप दंग रह जाएगे।

तेजेन्द्र सिंह, उत्तराखंड:

पब्लिक में बाबा बिष्ट के नाम से पहचाने वाले तेजेन्द्र 5 भर्तियों में फेल होने के बाद, 2006 में आखिरकार पुलिस में सलेक्ट हो गये। और महज एक साल बाद ही नेशनल बाॅडी बिल्डिंग में 2 बार लगातार गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही, 2009 में तेजेन्द्र मिस्टर हरक्यूलिस का खिताब भी जीत चुके हैं। इन्होंने कडी मेहनत के दम पर बहुत ही दमदार
बाॅडी बनाई है, जिसे देखकर मुह से बस यही निकलता है कि भाई बाॅडी हो तो ऐसी।

किशोर डांगे, महाराष्ट्र: 

मिस्टर महाराष्ट्र, आरनोल्ड और मिस्टर मराठवाडा नामों से फेमस इस पुलिस वालें का जन्म जालना के एक बहुत ही करीब परिवार में हुआ था। पुलिस की नौकरी भी बडी मुश्किलों का सामना करते हुए, कडी मेहनत की बदौलत मिली। किशोर इस मुकाम को हाॅसिल करने के साथ साथ बाॅडी बिल्डिग पर भी ध्यान देते थे। लेकिन आर्थिक तंगी के कारण बाॅडी बिल्डिंग छोड दी और जैसे ही नौकरी पर लगे तो फिर से कसरत करना शुरू कर दिया और आज बाॅडी बिल्डिंग के क्षेत्र में कई सारे अवार्ड अपने नाम कर चुके हैं।

मोतीलाल दायमा,  मध्यप्रदेश:

कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर सिंघम नाम से वायरल हुए मोती लाल दायमा डिपार्टमेंट में एक हवलदार के पद पर तैनात है और अब तक 04 बार मिस्टर इन्दौर का खिताब अपने नाम कर चुके हैं। अब इनका अगला टारगेट मिस्टर इंडिया बनने का है। जिसके लिए वो महीनें के 50 हजार रूपया अपनी डाईट पर खर्च कर देते हैं। अब बात करें पेमेट की तो उन्हें मात्र 26 हजार रूपये तन्खा मिलती है। लेकिन इतने कम पैसों में मिस्टर इंडिया बनने का सपना पूरा नहीं हो सकता तो विभाग के कई आला अधिकारी और शहर के कई जाने माने लोग दायमा की डाईट और कई अन्य जरूरी सामान की व्यवस्था करने में मदद करते हैं।

अमित क्षेत्री, उत्तराखंड:

देहरादून में रहने वाले अमित क्षेत्री, उत्तराखंड पुलिस में असिसटैंट सब इन्सपेक्टर की पोस्ट पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि वे यू0एस0 में हुए पुलिस एण्ड फायरस गेम्स 2015 में गोल्ड मेडल जीत चुके हैं। अमित गोरखा बाॅडी बिल्डर के नाम से लोगों के बीच फेमस हैं। बता दें कि 2013 में पुणे में अमित को चैम्पियन ऑफ़ चैम्पियन का खिताब भी मिल चुका है। इन्होंने कडी मेहनत के दम पर बहुत ही शानदार बाॅडी बनाई है।

सचिन अतुलकर, मध्यप्रदेश:

सचिन कोई प्रोफेशनल बाॅडी बिल्डर तो नहीं हैं लेकिन फिटनेस के मामलें में पुलिसडिपार्टमेंट के सभी कर्मचारी इन्हें अपना आईकन मानते हैं। सचिन 2007 बैच के पास आउट है और वे मात्र 22 साल की उम्र में ही IPS अधिकारी बन गए थे। उनके मुताबिक बाॅडी बिल्डिंग एक अच्छे व्यक्तित्व, माईड और बाॅडी को डबलेप करता है। सचिन जहाँ भी जाते हैं लोग इन्हें देखकर इनके साथ सेल्फी लेनी की गुजारिश करने लगते हैं। सचिन ने कडी मेहनत से बहुत ही तगडी बाॅडी बनाई है।

तो दोस्तों आपकों इनमें से कौन सा पुलिस वाला सबसे ज्यादा पसंद आया हमें कमेट करके जरूर बताएं।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology