हमारे शरीर में कैसे बढ़ता जाता है वायरस How the virus grows in our body

Must read




शरीर में हमारी ही कोशिकाओं से बढ़ता जाता है वायरस का कुनबा

वाशिंगटन : एक बार वायरस हमारे शरीर में प्रवेश कर जाए तो हमारी ही कोशिकाओं में अपना कुनबा बढ़ाने लगता है। कोशिकाओं में डीएनए के रूप में जेनेटिक तत्व होते हैं जो आरएनए बनाते हैं। यही आरएनए कोशिकाओं को ऐसे प्रोटीन बनाने के निर्देश देते हैं जो कोशिकाओं को चलाने के लिए जरुरी हैं।

वायरस के अनुरूप ही बनने लगते हैं प्रोटीन, कोशिकाओं की ऊर्जा इसी में खत्म हो जाती है।

  • Posts not found

फेफड़े की कोशिकाओं को जैम कर देता है वायरस

कोशिकाओं में पहुंचे वायरस को पढ़कर आरएनए उसके अनुसार भी प्रोटीन बनाने लगता है। फिर यह वायरस प्रोटीन वायरस के आरएनए को अपने जैसे और प्रोटीन बनाने के लिए प्रेरित करने लगता है। यह कॉपी किया प्रोटीन हमारी कोशिकाओं के बड़े हिस्से को हाइजेक करने लगता है।

कोशिका लड़ने का प्रयास करती है तो बाकी वायरस प्रोटीन उसे रोक देते हैं। कोशिकाओं की पूरी कार्यप्रणाली खत्म होने लगती है, उसकी ऊर्जा और सारी प्रक्रिया वायरस को ही बनाने व बढ़ाने में खर्च होने लगती है।




बाल को फुटबाल मैदान के बराबर कर दें तो चार इंच का नजर आएगा वायरस

यह वायरस इतना छोटा होता है कि एक औसत मोटाई के बाल को फुटबाल के मैदान के बराबर कर दें तो यह उसकी तुलना में चार इंच का नजर आएगा। इसकी बाहरी सतह तैलीय और स्पाइक प्रोटीन युक्त होती है, भीतर उसका आरएनए यानि जेनेटिक तत्व होता है। व्यक्ति में पहुंचते ही वायरस फेफड़े की कोशिकाओं की गर्म और गीली सतह पर जमकर जैम जाता है और तुरंत वृद्धि करने लगता है।

चार इंच का वायरस तो कोशिकाएं 26 फिट

वायरस को अगर चार इंच का माने तो मानव कोशिकाएं उसके लिए 26 फिट आकर की होंगी। कोशिकाएं बाहरी हमले को रोकने की क्षमता रखती हैं। लेकिन एसीई रिसेप्टर प्रोटीन के जरिये वायरस उनमें प्रेवश कर जाता है। इसका काम हमारे शरीर की हार्मोन संवेदनशीलता को नियमित रखना होता है। लेकिन कोरोना वायरस के प्रोटीन स्पाइक किसी कांटे जैसा काम करता हुए इन रिसेप्टर से चिपक जाते हैं। इसके बाद वायरस की सतह कोशिका से जुड़ जाती है और वायरस का आरएनए हमारी कोशिकाओं में पहुँच जाता है। यही वायरस का हमारे शरीर में असली प्रवेश है।



Top Trending

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Technology